Web Hosting क्या है कितने प्रकार के होते है

नमस्कार दोस्तों Blogging Course के इस पाठ मे आपका स्वागत है इससे पहले मैं ब्लॉग्गिंग कोर्स से रिलेटेड कई पोस्ट कर चूका हूँ इस पोस्ट मे बताऊंगा की Hosting क्या है और कैसे खरीदें क्योंकि आज के टाइम मे जितने भी ब्लॉग हिन्दी और इंग्लिश मे है उनमे से 93% वर्डप्रेस पर बना हुआ है ये सभी ब्लॉग होस्टिंग पर सेटअप है तो ये जान लेना बहुत जरुरी है की Hosting क्या है ब्लॉग बनाने के लिए होस्टिंग की किस प्रकार की जरुरत है होस्टिंग कैसे खरीद सकते है कहाँ से खरीद सकते है Best Web hosting खरीदते वक्त किन – किन बातो का ध्यान रखना चाहिए आदि…

Hosting क्या है ?

वेब होस्टिंग सभी वेबसाइट को इंटरनेट पर जगह देने की सर्विस प्रोवाइड करता है होस्टिंग की वजह से ही इंटरनेट पर जितने वेबसाइट है सभी पर आप विजिट करते है ( एक तरह से होस्टिंग को वेबसाइट का Land कह सकते है ) आप ज़ब भी कोई वेबसाइट विजिट करते है तो उसपर उपलब्ध Image, Files, Text, एक स्पेशल कंप्यूटर सर्वर पर स्टोर होता है जिसे वेब सर्वर/वेब होस्टिंग कहा जाता है

होस्टिंग एक तरह से place है जहाँ ब्लॉगर place किराये पर लेकर वहां अपना ब्लॉग बनाता है जैसे की आप किसी फ्लैट का किराया monthly/yearly paid करते है ठीक उसी तरह होस्टिंग का भी है यहाँ आप 6 month, 1 year जितने समय के लिए चाहे होस्टिंग खरीद कर उसपर ब्लॉग चला सकते है

Web Hosting ब्लॉग/वेबसाइट के लिए क्यों जरुरी है

एक ब्लॉग वेबसाइट पर image, Video, File, Text होता है इन सभी को रखने के लिए एक जगह चाहिए होता है और वो जगह होस्टिंग आपको देता है

Web hosting काम कैसे करता है ?

जब भी कोई ब्लॉग / वेबसाइट बनाते है तो यही सोच कर बनाते है की इस वेबसाइट / ब्लॉग पर उपलब्ध जानकारी यूजर के पास पहुँचे, उससे पहले उस जानकारी को एक जगह पर अपलोड करना पड़ता है

फिर Domin Name को वेब होस्टिंग / वेब सर्वर से कनेक्ट करना पड़ता है ताकि होस्टिंग पर उपलब्ध जानकारी एक नाम के जरिए व्यक्ति के पास पहुचे उसके बाद ज़ब भी कोई व्यक्ति आपके Domin Name से ब्लॉग पर विजिट करता है तो आपके द्वारा दी गई जानकारी उसे ब्लॉग पर मिल जाती है

इस सारी प्रक्रिया मे Dns ( domin Name System ) की महत्वपूर्ण भूमिका होती है

Web Hosting कितने प्रकार के होते है ?

अभी तक हमने जाना की वेब होस्टिंग क्या है, Web Hosting ब्लॉग/वेबसाइट के लिए क्यों जरुरी है, वेब होस्टिंग कैसे काम करता है अब जानेंगे Types of web hosting in hindi

वेब होस्टिंग मुख्यत: 4 प्रकार के होते है

  1. Shared Hosting
  2. VPS ( Virtual private Server )
  3. Dedicated Hosting
  4. Cloud web hosting

Shared hosting

shared-hosting

शेयर्ड होस्टिंग मे एक ही सर्वर होता है जहाँ पर हज़ारो वेबसाइट होस्टेड होती है उन सभी वेबसाइट के फाइल्स एक ही सर्वर पर अपलोड रहता है

शेयर्ड होस्टिंग उन लोगो के लिए सही है जो ब्लॉग्गिंग क्षेत्र मे नए है और उनका साइट अभी पॉपुलर नहीं है ज्यादा ट्रैफिक उनके साइट पर नहीं है तो उनके लिए शेयर्ड होस्टिंग अच्छा है और आपको तब तक कोई परेशानी का सामना नहीं करना पड़ता जब तक आपके ब्लॉग पर hevay ट्रैफिक ना आने लगे साइट पॉपुलर ना हो जाए

क्योंकि ये शेयर्ड होस्टिंग है तो यहाँ पर आपका वेबसाइट Slow loading होता है वो इसलिए क्योंकि शेयर्ड होस्टिंग पर हज़ारो वेबसाइट एक ही कंप्यूटर सर्वर पर स्टोर होता है तो website speed थोड़ी धीमी होती है

Shared Hosting के फायदे

• इस होस्टिंग को आप आसानी से इस्तेमाल कर सकते है इस पर वेबसाइट सेटअप करना बहुत ही आसान होता है

• शेयर्ड होस्टिंग उन लोगो के लिए Best option है जो इस फील्ड मे नए है

• शेयर्ड होस्टिंग का प्लान व्यक्ति के बजट के अनुसार होता है इसे कोई भी खरीद सकता है यानी की इसका बजट यूजर फ्रेंडली होता है

• इसका Cpanel जिसे Control panel भी कहा जाता है वो यूजर फ्रेंडली होता है जिससे यूजर आसानी से होस्टिंग के सभी फीचर्स को यूज़ कर सकते है

Shared Hosting के नुकसान

• इसमें सभी फीचर्स लिमिट मे ही होती है जिससे आप इसके गिने – चुने फीचर्स ही इस्तेमाल कर सकते है

• ज्यादातर होस्टिंग प्रोवाइडर कंपनी शेयर्ड होस्टिंग यूजर को बहुत सपोर्ट करते है

• सिक्योरिटी के मामले मे भी कमजोर होता है और शेयर्ड होस्टिंग पर होस्टिंग साइट hacked होने chance ज्यादा रहते है

• वेबसाइट की परफॉरमेंस Up down होती रहती है हालांकि आप सही कंपनी Choose करते है और उसका शेयर्ड होस्टिंग भी इस्तेमाल करते है तो Up down के Chances न के बराबर होते है

VPS Hosting ( Virtual Private Sever )

vps-hosting

आप किसी बड़े होटल मे जाते है वहां आपको एक कमरा दिया जाता है उसमे सिर्फ – और सिर्फ आप ही रहते है यानी की जब तक का रेंट आपने भरा है तब तक उस कमरा के मालिक आप ही है mean यहाँ अलग – अलग रूम मे अलग – अलग मालिक रहते है और पूरी तरह से सुरक्षित ठीक यही VPS ( Virtual Private Server) मे Virtualization तकनीक का इस्तेमाल होता है

जिसमे सर्वर के रूप मे कंप्यूटर सिर्फ एक ही होता है लेकिन virtually कई हिस्सों मे बांटा होता है क्योंकि इसमें सभी वेबसाइट एक ही सर्वर पर स्टोर रहती है लेकिन Virtially अलग – अलग Divided स्टोर मे की हुई होती है

फायदे

• Better Performance मिलता है
• Dedicated की तरह ही इसमें पूरा कण्ट्रोल मिलता है
• इसमें आपको ज्यादा flexibility मिलती है जिससे आप Memory Size bandwidth आदि Customise करके बढ़ा सकते है
• Dedicated Hosting की अपेक्षा ये उससे कम प्राइस मे मिलता है
• Privacy और Security का ख्याल रखा जाता है
• आपको कस्टमर सपोर्ट बढ़िया मिलता है

नुकसान

• ये थोड़ा कॉस्टली होता है
• बिना तकनीकी जानकारी के इसका इस्तेमाल नहीं कर सकते

Dedicated Hosting

dedicated-hosting

ये शेयर्ड होस्टिंग का बिल्कुल उल्टा है शेयर्ड होस्टिंग मे जहाँ एक ही सर्वर पर सारी वेबसाइट का डाटा स्टोर होता है वही Dedicated hosting मे सिर्फ और सिर्फ वेबसाइट का डाटा स्टोर होता है जिससे साइट की परफॉरमेंस फ़ास्ट होती है

इसकी सभी सर्विस बढ़िया है तो वही ये high Costly भी है जिनके साइट पर महीने मे बहुत ज्यादा ट्रैफिक आते है उन साइट्स के लिए Dedicated Hosting परफेक्ट है बड़ी – बड़ी e- commerce Website Dedicated Hosting का ही इस्तेमाल करते है Like, Amazon, Filpkart आदि..

Dedicated Hosting के फायदे

• इसमें क्लाइंट को सर्वर के ऊपर कुछ ज्यादा कण्ट्रोल दिया जाता है
• Dadicated होस्टिंग मे क्लाइंट को Root का Full access दिया जाता है
• Security के मामले मे Dedicated बहुत ज्यादा सिक्योर है

Dedicated Hosting के नुकसान

• ये सभी होस्टिंग की तुलना मे ज्यादा महँगा होता है
• बिना तकनीक जानकारी के इसका इस्तेमाल नहीं कर सकते
•यहाँ पर अपने प्रॉब्लम को खुद से सॉल्व करना मुश्किल होता है इसलिए तकनीशियन को Hire करना पड़ता है

Cloud Hosting

cloud-hosting
source : pixway

Cloud Hosting मे साइट का डाटा अलग – अलग सर्वर पर स्टोर होता है यह होस्टिंग बाकि सभी होस्टिंग से पूरी तरह अलग है यानी की इसमें बहुत से सर्वर होते है जिससे साइट पर कितना भी ट्रैफिक आए लोडिंग पड़े ये handle करता है

Cloud Hosting के फायदे

  • इसका परफॉरमेंस सभी होस्टिंग से बेहतर होता है
  • साइट पर अनलिमिटेड ट्रैफिक हैंडल कर सकता है बिना साइट डाउन हुए
  • Heavy Security होता है सिक्योरिटी की कोई चिंता नहीं

Cloud Hosting के नुकसान

  • बहुत ज्यादा Costly होता है
  • Root Access की सुविधा नहीं मिलती

Web Hosting खरीदते वक्त किन – किन बातो का ध्यान रखना जरुरी है ?

आपने ऊपर पढ़ा की वेबसाइट होस्टिंग कितने टाइप के होते है इससे आप ये तो जान चुके की किस टाइप की होस्टिंग खरीदना सही है अब जानते है होस्टिंग खरीदते वक्त किन – किन बातो का ध्यान रखे ताकि कम – से – कम बजट मे बढ़िया होस्टिंग खरीद सके

जब भी होस्टिंग खरीदें यहाँ बताए गए 4 पॉइंट्स को हमेशा ध्यान मे रखे क्योंकि यही 4 पॉइंट्स आपको बढ़िया होस्टिंग Choose करने मे सहायता करता है

  1. Disk Space
  2. Bandwidth
  3. Uptime
  4. Customer Support

Disk space

जब भी आप होस्टिंग खरीदें तो ये अवश्य देखे की वो disk Space कितना दे रहा है Disk space होता है जैसे कंप्यूटर मे 400 -500GB Space होता है ठीक उसी तरह होस्टिंग मे भी होता है यदि संभव हो तो आप अनलिमिटेड Disk Space वाले होस्टिंग खरीदें

क्योंकि Low Space वाले होस्टिंग मे ज्यादा डाटा स्टोर से Disk Space full हो जाता है जिससे साइट loading मे समस्या होती है

  1. Bandwidth

जैसा की एक वेबसाइट है तो उसपर हर सेकंड मेे हज़ारो लाखो विजिट विजिट करते है यानी की उस वेबसाइट के डाटा को एक्सेस करते है उसे bandwidth कहते है यदि आपका bandwidth कम है और ज्यादा विजिटर साइट पर विजिट करते है तो आपका साइट डाउन हो सकता है इसलिए लिए ज्यादा bandwidth वाला होस्टिंग लेने की कोशिश करें

  1. Uptime

आपका साइट कितने समय ऑनलाइन अवेलेबल होता है और कितने कितने टाइम डाउन उसे ही uptime कहते है लगभग सभी कंपनी 99.99% Uptime देती है जो वेबसाइट Uptime ज्यादा दे उसी होस्टिंग को खरीदें |

  1. Customer Support

लगभग सभी होस्टिंग प्रोवाइडर कहता है की वो कस्टमर को 24*7 Hours Customer Service Provide करता है लेकिन ऐसा है क्योंकि कई ऐसे होस्टिंग प्रोवाइडर है जो होस्टिंग प्लान के ऊपर को देख कर ही सपोर्ट करते है इसके अलावा उनसे Live chat का विकल्प है या नहीं ये सभी देख कर होस्टिंग खरीदें |

Web Hosting कहाँ से खरीदना चाहिए ?

वेब होस्टिंग आप कही से खरीदें इससे कोई फ़र्क़ नहीं पड़ता बस आप उनके बारे मे गूगल पर उपलब्ध रिव्यु चेक करें फिर खुद चेक करें उसके बाद होस्टिंग खरीदें

Read Also : Best Hosting kaha Se Kharide 2020

नए ब्लॉगर होस्टिंग का कौन सा प्लान खरीदे ?

आप नए है तो शेयर्ड होस्टिंग का कोई भी प्लान खरीद सकते है जिसमे Bandwidth, Disk space, ज्यादा हो आप बाद मे Hosting Plan Upgrade कर सकते है

Web Hosting कैसे खरीदें ?

सभी कंपनी के प्रोसेस अलग – अलग है इसलिए मैं कोई भी प्रोसेस नहीं बता रहा but कुछ Basic process बता रहा हूँ

  1. जिस साइट से होस्टिंग खरीदना है उसपर विजिट करें
  2. होस्टिंग Choose करें फिर प्लान Choose करें
  3. फिर आप Next/Continue पर क्लिक करें यदि आपके पास डोमिन है तो उसका नाम डाले और next पर क्लिक करें
  4. एकाउंट बनाये अपना डिटेल्स भर कर Credit card/ Debit card / Internet banking/Wallet जिससे भी पेमेंट करना चाहते है वो सेलेक्ट करें
  5. और पेमेंट डिटेल्स डाल कर पेमेंट करें अब आप सफलता पूर्वक होस्टिंग खरीद चुके है इसे देखने के लिए cpanel मे लॉगिन करें वहां आप पुरे capnel को देख सकते है

Conclusion :

होस्टिंग क्या है ब्लॉग/वेबसाइट के लिए होस्टिंग क्यों जरुरी है होस्टिंग कितने प्रकार के होते है होस्टिंग खरीदते वक्त किन – किन बातो का ध्यान रखना चाहिए होस्टिंग कहाँ से खरीदना चाहिए नए ब्लॉगर कौन सा होस्टिंग खरीदे, इन सभी सवालों का जवाब आपको मिल चूका है फिर भी कोई सवाल हो तो आप हमसे पूछ सकते है

पोस्ट पसंद आए तो फीडबैक देना ना भूले आपको लगे की ये पोस्ट वास्तव मे उपयोगी है तो इसे सोशल साइट्स पर जरुर शेयर करें

About Editorial team

94f59f3df076a9eba56b038cf6129a0f?s=90&d=mm&r=gMy Name is manish i am the founder of this successbranch blog. the main objective this blog is to promote hindi in the world . for this, i share all kinds of information here in hindi Learn More


Subscribe.

  Get daily blogging seo and news delivered to your inbox..🧡



Leave a comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.